Wednesday, July 28, 2010

मुरलीधरन का दूसरा !

श्रीलंका के जादुई ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने रिटायरमेंट लेते ही अपने आलोचकों को खरी खोटी सुनाना शुरू कर दिया है। मुरलीधरन ने पूर्व भारतीय स्पिनर बिशन सिंह बेदी को एक अच्छा इंसान तक मानने से इंकार कर दिया।
अच्छे इंसान नहीं हैं बेदी...
औसत दर्जे के क्रिकेटर थे बेदी...
बेदी की बातों की परवाह नहीं...

श्रीलंका के जादुई ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का ये बयान क्रिकेट जगत में हड़कंप मचा चुका है... गॉल टेस्ट में 800 विकेटों का आंकड़ा छूने वाले मुरलीधरन...शायद इसी मौके का इंतज़ार कर रहे थे... जब वो अपने सबसे बड़े आलोचक बिशन सिंह बेदी को अपने दूसरा का शिकार बना सकें... और फिर मुरली ने जब बोलना शुरू किया...तो उनकी ज़ुबान से निकली ऐसी बातें...जिसकी उम्मीद खुद बिशन सिंह बेदी ने भी कभी नहीं की होगी... उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान को विवाद पैदा करने वाला और बहुत ही साधारण बोलर करार दिया और कहा की- बेदी विवादास्पद व्यक्ति हैं। उनका नाम कई विवादों से जुड़ा। उन्हें दूसरों के बारे में बात करने से पहले खुद के बारे में सोचना चाहिए।
मुरली ने ना सिर्फ बेदी को चरित्र पर सवाल उठाए...बल्कि उन्होंने बेदी को एक औसत दर्जे का क्रिकेटर बता....वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे बड़ी बहस छेड़ दी है...कि मुरली बडे या फिर बेदी...वैसे, मुरली और बेदी के बीच पिछले कई सालों से ज़ुबानी जंग का सिलसिला कायम था.. लेकिन एक तरफ जहां बेदी..दिल खोल कर मुरली के विवादास्पद एक्शन के खिलाफ आवाज़ बुलंद करते थे.. तो मुरली अक्सर अपनी खामोशी से अपने उपर की गई टिप्पणी को बर्दाश्त कर लिया करते थे.. लेकिन रिटायरमेंट के बाद तो मानो जैसे मुरली ने मौका तलाशना शुरू कर दिया था...कि कब उन्हें मौका मिले....और कब वो बेदी के खिलाफ अपने अंदर की भड़ास निकालें....

No comments:

Post a Comment