Saturday, June 26, 2010

युवराज का सलेक्शन

आपको बताते है युवी के टीम में अंदर-बाहर होने का असली खेल...वो खेल, जो बोर्ड ने अनुशान के नाम पर युवराज सिंह को टीम से बाहर करके खेला था..लेकिन एशिया कप खत्म होने के साथ ही बाहर होने का खेल अब खत्म हो चुका है.. इसलिए धोनी के कहने पर... युवराज को टीम के अंदर लाने का खेल शुरू हो गया..जिसकी बदलौत .बिना फॉर्म और फिटनेस साबित किए ..युवी तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ खेलने..श्रीलंका जाएंगे। टेस्ट में युवी की वापसी की असली वजह आपको बताए..इससे पहले बोर्ड के अंदर-बाहर के खेल को समझ लीजिए.. क्योंकि श्रीलंका दौरे के लिए युवराज सिंह की वापसी.....सही मायने में वापसी नहीं है......बल्कि ये तो है अंदर-बाहर का खेल…टी-20 वर्ल्ड कप में हार और उसके बाद हुए पब कांड के चलते खिलाड़ियों पर अनुशासन की लगाम कसना उस वक्त बोर्ड की मजबूरी बन चुका था.. और यही वजह थी ...कि युवी की फिटनेस को टारगेट करते हुए . एशिया कप से उन्हे बिना कोई reason बताए......टीम से बाहर बिठा दिया गया था.. और अब उन बातों से ध्यान हटते ही.....सलेक्टर्स ने फिर युवी को टीम में शामिल कर लिया... वहीं लाइव इंडिया को सलेक्शन कमेटी में अपने सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ..युवी को टीम में शामिल करनी की दूसरी वजह..टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और युवी की दोस्ती.. ..श्रीलंका दौरे के लिए युवी के सलेक्शन को लेकर धोनी ने सलेक्टर्स पर दवाब डाला....एशिया कप से युवी को बाहर किए जाने के वक्त ही धोनी ने कहा था कि......युवी जैसे बड़े खिलाड़ी के लिए टीम में वापसी कोई बड़ी बात नहीं होगी.....और अपनी इसी बात को साबित करने के लिए धोनी ने लंका दौरे के लिए युवी को टेस्ट का टिकट देने के लिए .....श्रीकांत सहित पांचों सलेक्टर्स को राज़ी कर लिया। जबकि युवराज से बेहतर फॉर्म में नजर आ रहे....रोहित शर्मा की एकबार फिर अनदेखी की गई.....जिन्होने ना सिर्फ जिम्बाब्वे दौरे बल्कि एशियाकप में भी बेहतरीन प्रदर्शन करके.....टेस्ट सीरीज़ के लिए अपना दावा भी मजबूत किया.....लेकिन धोनी के दबाव और प्लेयर्स के प्रदर्शन से ज्यादा उनकी पॉपुलैरिटी पर भरोसा करने वाली सलेक्शन कमेटी......ने एकबार फिर आंख बंद करके प्लेयर्स की किस्तम का फैसला कर दिया......

No comments:

Post a Comment