Saturday, April 17, 2010

मोदी को आईपीएल चेयरमैन के पद से क्यों नहीं हटाया जा सकता ?


जरा याद किजिए ...बीसीसीआई के इतिहास का वो लम्हा था ..जिसने बोर्ड की झोली को हजारों करोड़ रुपए से भर दिया.....और इस मेगा लीग आईपीएल के मास्टर माइंड थे ..ललित मोदी.. जिन्होने बोर्ड को ऐसा मनी प्लांट दे दिया...जिससे बोर्ड की कमाई ...महज़ डेढ़ माहीने में ..भारत के एक साल के इंटरनेशनल सीज़न से ज्य्दा हो गई ...लेकिन मोदी जब अपने इसी मेगा वेंचर को आगे ..बढ़ा रहे थे ..तभी उनपर आरोपों का दौर भी शुरु हो गया.....और उठने लगी मोदी को आईपीएल से दरकिनार करने की आवाज़ें....बीसीसीआई में भी मोदी को लेकर ... नाराज़गी सामने आई ..लेकिन इस सबके वावजूद भी ...मोदी को आईपीएल से नही हाटाया जा सकता ...
क्योंकि आईपीएल के संविधान के मुताबिक मोदी को ..पांच साल के लिए आईपीएल का चेयरमैन और कमीशनर बनाया गया है ..और उन्हे...हटाने के लिए ...एक खास प्रकिया से गुजरा होगा ..
मोदी को आईपीएल चेयरमैन पद से हटाने के लिए ...बीसीसीआई वर्किंग कमेटी ...र्गवर्निंग काउंसिंग ...और फाइनेंस कमेटी में उनके खिलाफ प्रस्ताव तैयार करना होगा ..और जब एक तीनों ..से मोदी को हटाने का प्रस्ताव पारित हो जाएगा .....बीसीसीआई की अधंयक्ष की मोहर के बाद मोदी को हटाया जा सकता है...
लेकिन इसमें काफी वक्त लगेगा वैसे बीसीसआई के अद्य़श्र शशांक मनोहर पहले भी कह चुके हैं कि मोदी को 2012 तक आईपीएल चेयरमैन बनाया गया है....और उन्हे हटाना इतना आसान नही है….मनोहर के इस बयान की कुछ खास वजह भी है...
आईपीएल के हर डिपार्टमेंट और संचालन की परख होने की वजह से भी बीसीसीई को मोदी को हटाने से नुक्सान ही होगा ...ऐसे में ..शशांक मनोहर ने दोहरी ज़िम्मेदारी ना लेते हुए फिलहाल तो मोदी को हटाने की बात से इंकार किया है..लेकिन आने वाले दिनों में ..गवर्निंग काउंसिंग की मीटिंग में ..मोदी के कार्य श्रेत्र को लेकर क्या फैसला लिया जाता है ...ये देखना दिलचस्प होगा .



No comments:

Post a Comment