Friday, January 15, 2010

वर्ल्ड कप की दुर्गती


खेलों की दुनिया में साल 2010 का पहला सबसे बड़ा इवेंट यानि फुटबॉल वर्ल्ड कप ... 11 जून से साउथ अफ्रीका में शुरू होगा। टूर्नामेंट के आगाज़ में 5 महीने से भी कम का वक्त बचा है ... ज़ाहिर है दुनिया भर में वर्ल्डकप का प्रोमोशन भी फीफी जमकर कर रही है। औऱ इसी प्रोमोशन के मद्देनज़र ... फीफा वर्ल्डकप की ट्रॉफी दीवाने खेल प्रेमियों के शहर कोलकाता पहुंची। 19 कैरेट सोने से करीब 6 किलोग्राम वजन की बनी ... फीफा वर्ल्डकप ट्रॉफी को देखने के लिए कोलकाता में हज़ारों की भीड़ उमड़ी। लेकिन खेल के दीवानों के शहर में फीफा की परंपरा ताक पर रख दी गई। दरअसल कोलकाता के तीन राज्य मंत्री ट्रॉफी को उठाने के उतावलेपन में भारी गलती कर बैठे। फीफा वर्ल्डकप की ट्रॉफी के स्वागत में आयोजित हुए कार्यक्रम में कोलकाता के राज्य मंत्री प्रतिम चटर्जी औऱ खिति गोस्वामी के अलावा खेलमंत्री काँटी गांगुली ने वर्ल्डकप ट्रॉफी को अपने हाथों में ले लिया। अमूमन फुटबॉल वर्ल्डकप ट्रॉफी की ट्रॉफी को छूने की इजाज़त सिर्फ फीफा सचिव, वर्ल्डकप विजेता टीम के कप्तान या किसी देश के राष्ट्रपति को ही होती है। लेकिन कोलकाता के नासमझ या कहें दीवाने नेताओं की इस हरकत ने ... फीफा अधिकारियों को चौंकने पर मजबूर कर दिया। ये पहला मौका है जब भारत में फुटबॉल वर्ल्ड कप ट्रॉफी को लाया गया है ... तय कार्यक्रम के मुताबिक अब ये ट्रॉफी कोलकाता के साल्ट लेक स्टेडियम में आम लोगों के देखने लिए 16 और 17 जनवरी को रखी जाएगी। जिसके बाद इसे विएतनाम ले जाया जाएगा।

No comments:

Post a Comment