Sunday, January 10, 2010

हॉकी में बगावत


हॉकी इंडिया के खिलाड़ियों ने एक बार फिर बगावत का झंडा उठा लिया है। और वो फिर से प्रैक्टिस की बजाए अपनी सैलरी को लेकर हॉकी इंडिया के खिलाफ खड़े हो गए हैं। हालांकि दिल्ली में शनिवार को हॉकी इंडिया और खिलाड़ियों के बीच समझौता हो गया था...लेकिन पुणे जाते ही इस समझौते ने फिर से बगावती रुख इख्तियार कर लिया। चौंकाने वाली बात ये थी कि सिर्फ चौबीस घंटे पहले ... दिल्ली में यही खिलाड़ी मामले को हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ए.के मट्टू से बातचीत के बाद खत्म होता बता रहे थे। सूत्रों के मुताबिक हॉकी टीम के कप्तान राजपाल सिंह को मट्टू की तरफ से तब ... ये आश्वासन दिया गय़ा था कि जल्द ही हॉकी खिलाड़ियों के लिए सैलेरी औऱ ग्रेड सिस्टम की शुरूआत की जाएगी ... इतना ही नहीं खिलाड़ियों को ये भी कहा गया था कि अगर फरवरी महीने में होने वाले वर्ल्ड कप में भारतीय टीम पोडियम फीनिश यानि पहले तीन में से किसी भी स्थान पर रहती है ... तो खिलाड़ियों को हॉकी इंडिया बतौर ईनाम 1 करोड़ रूपया देगी। लेकिन पुणे पहुंचकर जब कप्तान राजपाल सिंह ने ... समझौते की इस शर्त को टीम के दूसरे खिलाड़ियों के साथ बांटा तो ... ज़्यादातर खिलाड़ियों ने इसका विरोध किया। जिसके बाद भारतीय हॉकी खिलाड़ियों ने एक बार फिर प्रैक्टिस छोड़ने का फैसला किया।

No comments:

Post a Comment