Friday, October 2, 2009

धोनी धमाल !!!


साल 2009 के आईसीसी अवॉर्ड्स फंक्शन में....भारतीय क्रिकेटर्स जमकर चमके.....कैप्टन कूल महेन्द्र सिंह धोनी के साथ युवराज, सहवाग और सचिन तेंदुलकर भी....किसी ना किसी अवॉर्ड को हासिल करने में कामयाब रहे.....हालांकि चैंपियंस ट्रॉफी से टीम इंडिया की जल्द विदाई के बाद....धोनी की कप्तानी पर सवाल खड़े हो गए थे.....लेकिन अब धोनी की कप्तानी का लोहा खुद क्रिकेट की सबसे बड़ी संस्था आईसीसी ने भी मान लिया है......और इसका सबूत आईसीसी अवॉर्ड्स के साथ पूरी दुनिया के सामने आ गया.....

टीम इंडिया के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी.....जिनकी बल्लेबाजी, विकेटकीपिंग और कप्तानी का लोहा पूरा वर्ल्ड क्रिकेट मानता है.....हालांकि चैंपियंस ट्रॉफी से टीम इंडिया की जल्द विदाई ने.....क्रिकेट जानकारों को धोनी की कप्तानी पर सवाल खड़े करने का मौका दे दिया....लेकिन जोहानिसबर्ग में हुए आईसीसी अवॉर्ड्स में धोनी का जादू कुछ ऐसा चला....कि एक, दो नहीं बल्कि तीन-तीन अवॉर्ड धोनी की झोली में आ गिरे.....आईसीसी वन-डे रैंकिंग में नंबर वन के पायदान पर बरकरार धोनी को.....आईसीसी बेस्ट वन-डे प्लेयर द ईयर का अवॉर्ड दिया गया......हालांकि धोनी इस अवॉर्ड को लेने के लिए फंक्शन में मौजूद नहीं थे....लेकिन की जगह अवॉर्ड लेने के लिए टीम इंडिया के उपकप्तान युवराज पहुंचे.....आईसीसी की वोटिंग पीरियेड के दौरान धोनी ने 24 वन-डे मैच खेले.....जिसमें उन्होने 60.43 के बेहतरीन औसत से 967 रन बनाए.....जिसमें धोनी का स्ट्राइक रेट 86.63 रन यानि हर 100 गेंद में 87 रन। इसके अलावा धोनी ने 9 अर्धशतक भी बनाए।वहीं वर्ल्ड क्रिकेट में धोनी की असली पहचान एक बल्लेबाज़ और विकेटकीपर के तौर पर नहीं.....बल्कि एक माहिर और इंटेलिजेंट कप्तान के रुप में होती है.....और धोनी की इसी खूबी को पहचान आईसीसी अवॉर्ड्स की सलेक्शन कमेटी ने.....जिसमें टीम इंडिया के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले भी शामिल थे....और यही वजह रही कि धोनी को आईसीसी की वन-डे टीम का कप्तान भी चुना गया.....धोनी के लिए आईसीसी वन-डे टीम के कप्तान की ट्रॉफी ली....स्टाइलिश बल्लेबाज गौतम गंभीर ने.....वहीं टीम इंडिया की जीत के आंकड़े धोनी की काबिलयत जाहिर करने के लिए काफी है.....धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने पिछले एक साल में 24 वन-डे मैच खेले है....जिसमें 17 में टीम इंडिया को जीत हासिल हुई है......धोनी का जलवा सिर्फ वन-डे क्रिकेट में ही नहीं चला.....बल्कि धोनी का जादू टेस्ट क्रिकेट में भी कमाल दिखाता रहा है.....और यही वजह है....कि धोनी को आईसीसी की टेस्ट टीम की भी कप्तानी सौंपी गई है.....लेकिन इस अवॉर्ड को भी लेने के लिए धोनी मौजूद नहीं थे....धोनी की जगह आईसीसी टेस्ट कप्तान की ट्रॉफी ली....इंग्लैंड टीम के कप्तान और आईसीसी टेस्ट टीम में शामिल एंड्रयू स्ट्रॉस ने। यानि अपने बल्ले और कप्तानी का लोहा मनवा चुके धोनी ने.....आईसीसी अवॉर्ड्स में भी अपनी बादशाहत साबित कर दी है.....एकबार फिर वर्ल्ड क्रिकेट को दिखा दिया है....कि क्यों उन्हे क्रिकेट का असली बाज़ीगर कहा जाता है.....

No comments:

Post a Comment