Monday, September 14, 2009

टीम इंडिया अपनी गलतियों पर पर्दा मत डालो


श्रीलंका में टीम इंडिया ने ट्राई सीरीज तो जीत ली ..लेकिन फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया की कई कमज़ोरियां भी सामने आई ...और अगर इन कमज़ोरियों पर ध्यान नहीं दिया गया तो....चैंपियन्स ट्राफी में टीम इंडिया के लिए बड़ी परेशानी खड़ी हो सकती है ...लेकिन धोनी के धुरंधर ..दिलों को जीतने मे नाकाम रहे ....मैच में कई ऐसे पड़ाव आए ..जिसमें मैच लंका की झोली में जा सकता था...टीम इंडिया के खिलाड़ी अब तक अपनी खराब फील्डिंग से निज़ात नही पा सके हैं...फाइनल के नाज़ुक मौकों में ...खिलाड़ियों ने जमकर कैच टपकाए... टीम को फाइनल जीतना था ...और खिलाड़ी गेंद के साथ आंख मिचोली खेल रहे थे....जबकि टीम के पास ..एक फील्डिंग कोच मौजूद है...कोहली को फाइनल में मौका मिला ...लेकिन मैदान में एक आसान सा कैच पकड़ना भी उनके लिए भारी हो गया...यूसुफ पठान वन डे में लगातार पिट रहे हैं,...लेकिन कैच को लपकने में उनके ईशांत और आरपी ..में युवा जोश है ...लेकिन नाज़ुक मौकों पर दोनों की धार को आखिर क्यों ज़ंग लगा जाता है...क्या बड़े मुकाबले में ये खिलसाड़ी नवर्स हो जाते हैं....या फिर अभी भी ये ये दोनों फाइनल की गंभीरता को समझ नही पाए हैं....चैंपियंस ट्राफी में बेशक गंभीर की वापसी हो जाएगी ...लेकिन मिडिल ऑर्डर ...अभी भी कप्तान धोनी ...और युवराज़ के इर्द गिर्द घूमता है ..यानी अगर ये दोनों नही चले तो.....फिरक टीम का भगवान का ही मालिक है ...इसके अलावा ..नंबर 7 पर यूसुफ पठान अपनी दावेदारी के साथ न्याय नही कर पा रहे है..20-20 के इस किंग को ये समझना होगा कि ये 50 ओवर गेम है ..जहां ... टीम को सही फिनिश देनी होती है ...जहां ...टीम के लिए आखिरी ओवर्स में हिटिंग करना होती है ...लेकतिन पठान की पावर लगता है ..सिर्फ आईपीएल में भई रौशनी करती है .... चैंपियंस ट्रॉफी में थोड़ा वक्त है ...और टीम इंडिया अपनी इन गलतियों को सुधार भी सकती है ....क्योंकि मिनी वर्लड कप में एक हार का मतलब होगा ....टूर्नामेंट्स से बाहर होने का खतरा इसिलिए सुधर जाओ टीम इंडिया जीत के नशे में ..मत डालो अपनी गलतियों पर पर्दा ....और साबित करो कि तुम असली चैंपियन हो ....

No comments:

Post a Comment