Tuesday, June 23, 2009


चोट, चोट और सिर्फ चोट....ये एक ऐसा शब्द है जिसने कर दिया है टीम इंडिया को घायल....ये चोट इतनी गहरी है...जिसके दर्द से भारतीय क्रिकेट कराह रही है....शायद यही वजह है...जिसने अब टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी बैकफुट पर ला खड़ा किया है....टीम इंडिया की चोट की कहानी का सिलसिला शुरू हुआ इंडियन प्रीमियर लीग सीज़न टू से....भारतीय खिलाड़ियों ने साउथ अफ्रीका में जमकर पसीना बहाया....और बदले में उन्हें मिला ढ़ेर सारा पैसा....लेकिन पैसे के अलावा वो अपने साथ लेकर आए चोटों का ज़खीरा....टी-20 वर्ल्ड कप में खेलने गई टीम इंडिया थी तो युवा टीम इंडिया.....लेकिन उनपर लग गया चोटिल युवा टीम इंडिया का तमगा.....ज़ाहिर है घायल सैनिक कब तक जंग के मैदान में खड़े रहते....एक एक कर टीम इंडिया के ज़्यादातर सैनिक सरेंडर करते गए...और टीम के प्रदर्श पर पड़ा इसका असर....हालांकि इस बीच, कैप्टन कूल ने अपनी टीम की इस चोट पर पर्दा डालने की हर मुमकिन कोशिश की....धोनी ने तो कह दिया कि चोट नहीं थी वर्ल्ड कप से बाहर होने की वजह....लेकिन गुरू गैरी के मुताबिक टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप में आए लगभग सारे खिलाड़ी चोटिल थे....हर किसी को कोई ना कोई चोट थी.....और इसके लिए दोषी था इंडियन प्रीमियर लीग.... कूल भले ही उस वक्त चोट को दरकिनार कर बैठे....लेकिन वेस्टइंडीज़ दौरे में टीम की क्लास ले...उन्होंने जता दिया है कि उन्हें भी टीम की हार की असली वजह समझ में आ चुकी है....

No comments:

Post a Comment